×

Mere Alfaaz Heart Touching

Hindi Poem, Shayari, Story, Ghazal

चलत-चलत तेरा मन न थाके,

आज यह संकल्प तु ठान ले।।

हो जाएगा पास यदि तु,

मेहनत के महत्व को जान ले।।


कभी- कभी ‌तो ऐसा भी हैं होता।

सामने ‌अडिग चट्टान खड़ा हैं होता।।

परंतु तु हताश निराश न होना।

अपने लक्ष्य पर टठस्त जो रहना।।


यदि फिर भी लक्ष्य में दिखे निराशा।

जिसका कोई सामाधान न आता।।

तब एक लम्बी सांस तु लेना।

बड़े-प्रियो से बात-विचार तु कर लेना।।


फिर-से एक नऐ सफर का आगाज़ तु करना।

सुविचारो के नऐ नींव तु रखना।।

लक्ष्य का एक सीढ़ी दार क़िला बनाना।

रोजना एक-एक कर नऐ डेंग बढ़ाना।।

About Mere Alfaaz

मेरे अल्फ़ाज़ एक छोटा सा शब्द लेकिन समा जाते है इसमें सारे ज़ज़्वात ।

मेरे अल्फ़ाज़ एक मंच ही नही एक सँसार है । अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का । अपने ज़ज्वतों का सागर भरने का । यह मंच उन सभी को अबसर देने का प्रयास करता है , जो लेखन में रूचि रखते हैं ।

अपने मन के भाव , अपने अल्फ़ाज़ में लिखते हैं । कविता गीत ग़ज़ल या हो कहानी साहित्य कि कोई भी विधा । हर विधा का स्वरचित साहित्य सृजन आमन्त्रित है इस मंच पर ।

मेरे अल्फ़ाज़ छोटा सा प्रयास है शहर गाँव कस्बो से निकल सब को एक मंच पर लाने का । अपने क्षेत्र अपनी डायरी तक सिमित न रहते हुए हम विश्व पटल पर अपने आपको ला सकें। अपने सृजन अपनी अभिव्यक्ति को व्यक्त करने का सशक्त मंच ।

मेरे अल्फ़ाज़ । 26 नबम्बर 2015 से माँ वाणी की कृपा से यह अभियान प्रारम्भ हुआ । आज इस मंच से कई प्रतिभाशाली रचनाकार जुड़े जो अपने सृजन से साहित्य जगत को नई दिशा दे रहे हैं । अपनी पहचान लोगो के दिलों में बना रहे हैं ।

Mere Alfaaz
The Get Enquiry
Best Hindi Shayari